शार्दुल ठाकुर और भुवनेश्वर कुमार को अवॉर्ड ना मिलने से हैरान हुए विराट कोहली, जानें क्या कहा

पुणे के एमसीए क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए वनडे सीरीज के निर्णायक मुकाबले में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 7 रनों से हराया। आखिरी ओवर तक चले मैच में टी नटराजन की शानदार गेंदबाजी के दम पर भारत मैच और सीरीज को अपने नाम करने में सफल रहा। तीसरे वनडे मैच में भारत की तरफ से शार्दुल ठाकुर और भुवनेश्वर कुमार ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए मिलकर 7 इंग्लिश बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई। हालांकि, मैच में इंग्लैंड के लिए शानदार 95 रनों की नाबाद पारी खेलने वाले सैम करन को मैन ऑफ द मैच चुना गया। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने शार्दुल ठाकुर को मैन ऑफ द मैच और भुवनेश्वर कुमार को मैन ऑफ द सीरीज नहीं चुने जाने के फैसले को हैरानी भरा बताया। 

मैच के बाद विराट कोहली ने कहा, 'जब दो टॉप टीमें आपस में खेलती हैं तो मैच रोमांचक होते है। सैम करन ने बेहतरीन पारी खेली। हमारे गेंदबाजों ने हालांकि विकेट लिए तथा हार्दिक (पंड्या) और नट्टू (नटराजन) ने आखिर में अच्छी गेंदबाजी की। हमने कैच छोड़े यह निराशाजनक था लेकिन हम आखिर में जीत दर्ज करने में सफल रहे। मुझे हैरानी है कि शार्दुल को मैन ऑफ द मैच और भुवी ( भुवनेश्वर) को मैन ऑफ द सीरीज नहीं चुना गया। सबसे अधिक क्रेडिट गेंदबाजों को जाता है जिन्होंने विपरीत परिस्थितियों में अच्छी गेंदबाजी की।' भुवनेश्वर कुमार ने चोट के बाद वापसी करते हुए टी-20 और वनडे दोनों ही सीरीज में शानदार गेंदबाजी का प्रदर्शन किया।

वहीं शार्दुल ठाकुर ने इंग्लैंड के खिलाफ लिमिटेड ओवर सीरीज में लगातार अहम मौकों पर टीम को विकेट दिलाई। शार्दुल ने वनडे में 7 और टी-20 सीरीज में 8 विकेट अपने नाम किए। सिर्फ यही नहीं, शार्दुल ने आखिरी वनडे मैच में 21 गेंदों में 30 रनों की आतिशी पारी खेली, जिसके चलते भारत की टीम 300 के पार पहुंच सकी। मुंबई के इस तेज गेंदबाज ने लिमिटेड ओवर सीरीज में सर्वाधिक विकेट चटकाए। ऋषभ पंत (78) और हार्दिक पांड्या (64) की बदौलत भारत की टीम पहले बैटिंग करते हुए 329 रन बनाकर ऑलआउट हुई। जिसके जवाब में सैम करन की 95 रनों की जुझारू पारी के बावजूद इंग्लैंड 9 विकेट के नुकसान पर 322 रन ही बना सकी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: