अब बंगाल में सुवेंदु अधिकारी के पिता और भाई को भी मिली Y+ सुरक्षा

अब बंगाल में सुवेंदु अधिकारी के पिता और भाई को भी मिली Y+ सुरक्षा

हाइलाइट्स:

  • नंदीग्राम से ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़े थे सुवेंदु अधिकारी
  • सुवेंदु के पिता हैं शिशिर अधिकारी और दिब्येंदु हैं भाई
  • शिशिर और दुब्येंदु दोनों लोकसभा सांसद हैं, बीजेपी ने दी सुरक्षा

कोलकाता
गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल में लोकसभा सांसद शिशिर कुमार अधिकारी और दिब्येंदु अधिकारी को वाई+ सुरक्षा दी है। इस मामले में सीआरपीएफ को आदेश भेज दिए हैं। शिशिर कुमार अधिकारी और दिब्येंदु अधिकारी को सुरक्षा देगी।

आपको बता दें कि विधानसभा चुनाव के बाद से पश्चिम बंगाल में लगातार हिंसा हो रही हैं। कई बीजेपी के कार्यकर्ताओं और नेताओं की हत्याएं हो चुकी हैं। कहा जा रहा है कि बीजेपी के नेताओं को धमकियां मिल रही हैं। ऐसे में बीजेपी के दो सांसदों को लेकर चिंता बढ़ गई थी। उनकी सुरक्षा को लेकर बीजेपी ने उन्हें Y+ सुरक्षा देने का फैसला लिया है।

सुवेंदु के पिता हैं शिशिर तो दिब्येंदु हैं भाई
शिशिर कुमार अधिकारी पूर्व केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं। वह अभी पश्चिम बंगाल के कांथी संसदीय क्षेत्र से लोक सभा सदस्य हैं। वहीं दिब्येंदु अधिकारी बंगाल की तमलुक सीट से सांसद हैं। दिब्येंदु, बीजेपी विधायक सुवेंदु अधिकारी के भाई हैं। वहीं शिशिर उनके पिता हैं।

विधानसभा चुनाव के बाद सिर्फ बंगाल में ही भड़की हिंसा
पश्चिम बंगाल के साथ ही अन्य तीन राज्यों और एक केंद्र शासित क्षेत्र में भी चुनाव नतीजे घोषित हुए। बंगाल को छोड़कर कहीं से भी हिंसा की खबरें नहीं आईं। चुनावों के दौरान हिंसा का मकसद आम तौर पर वोटिंग बिहेवियर को प्रभावित करना होता है।

एक दूसरे को सबक सिखाने में लगी बीजेपी और टीएमसी
बंगाल में यह हिंसा राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों द्वारा एक-दूसरे को सबक सिखाने की प्रवृत्ति के रूप में सामने आ रही है। अभी तक राजनीतिक हिंसा के लिए दोनों पार्टियां एक दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। इसे राजनीतिक रंग दे दिया गया है। ममता बनर्जी ने सोमवार को अपने समर्थकों से राजनीतिक हिंसा रोकने की अपील तो की, लेकिन लगे हाथ इसका दोष बीजेपी पर मढ़ दिया, जबकि जरूरत इसे रोकने की साझा अपील करने की।

बंगाल का राजनीतिक हिंसा का रहा है इतिहास
पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का लंबा इतिहास रहा है। ममता को अपने इस कार्यकाल में इस धब्बे को भी मिटाने की कोशिश करनी चाहिए। यह भी भूलना नहीं चाहिए कि राज्य में महामारी तेजी से फैल रही है। सरकार को अपनी पूरी ताकत इसे रोकने में लगानी चाहिए। खुद ममता बनर्जी कह चुकी हैं कि उनकी सरकार की प्राथमिकता कोरोना महामारी को काबू में करने की होगी, जो बिल्कुल ठीक है। वह सुनिश्चित करें कि राज्य सरकार अपनी पूरी ताकत का इस्तेमाल इसे रोकने में करे।

शिशिर अधिकारी, दिब्येंदुशिशिर अधिकारी, दिब्येंदु

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *