आईपीओ लाने से पहले इस इंश्योरेंस कंपनी को खरीदना चाहते हैं पेटीएम

आईपीओ लाने से पहले इस इंश्योरेंस कंपनी को खरीदना चाहते हैं पेटीएम

हाइलाइट्स:

  • डिजिटल पेमेंट्स प्रोवाइडर कंपनी पेटीएम इस साल आईपीओ लाने की तैयारी में है
  • फाउंडर विजय शेखर शर्मा उससे पहले एक इंश्योरेंस कंपनी को खरीदना चाहते हैं
  • पेटीएम शर्मा की निवेश कंपनियों को 740 करोड़ रुपये का लोन देना चाहती है

नई दिल्ली
देश की सबसे बड़ी डिजिटल पेमेंट्स प्रोवाइडर कंपनी पेटीएम (Paytm) इस साल आईपीओ (Initial Public Offer) लाने की तैयारी में है। लेकिन कंपनी के फाउंडर विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) उससे पहले एक इंश्योरेंस कंपनी (Insurance Company) को खरीदना चाहते हैं। सूत्रों के मुताबिक पेटीएम शर्मा की निवेश कंपनियों को 740 करोड़ रुपये का लोन देना चाहती है जिसका इस्तेमाल जनरल इंश्योरेंस कंपनी Raheja QBE को खरीदने में किया जाएगा।

Paytm-Raheja डील की घोषणा एक साल पहले हुई थी और यह इस साल नवंबर में आने वाले पेटीएम के आईपीओ के लिए बहुत अहम है। सूत्रों के मुताबिक पेटीएम का शर्मा की दो कंपनियों VSS Holdings और VSS Investco को 740 करोड़ रुपये का लोन देने का प्रपोजल है। इन कंपनियों में शर्मा डायरेक्टर है। माना जा रहा है कि इस लोन से पेटीएम और रहेजा के बीच सौदा जल्दी निपटाने में मदद मिलेगी। इससे शर्मा इंश्योरेंस कंपनी की खरीद के लिए भुगतान कर सकेंगे।

देश का सबसे बड़ा आईपीओ
सूत्रों ने बताया कि पेटीएम और शर्मा साथ ही रिस्ट्रक्चरिंग के कई विकल्पों पर विचार कर रहे हैं ताकि इस डील को जल्दी बीमा नियामक IRDA की मंजूरी मिल सके। यह पूरा लोन इंश्योरेंस डील के लिए है। इस बारे में पेटीएम ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। Raheja QBE ने भी इस बारे में भेजे गए ईमेल का कोई जवाब नहीं दिया। लोन प्रपोजल के बारे में पेटीएम के शेयरहोल्डर्स को 5 जून को बताया गया था और वे 30 जून को होने वाली एजीएम इस पर वोट करेंगे।

इस बीच पेटीएम (Paytm) आईपीओ लाने की तैयारी में है। सूत्रों के मुताबिक कंपनी की योजना 21,800 करोड़ रुपये (3 अरब डॉलर) जुटाने की है। कंपनी का आईपीओ इसी साल दिवाली के आसपास आ सकता है और यह देश का अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा। देश में अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ कोल इंडिया लिमिटेड का था। 2010 में कंपनी ने इसके जरिए 15,000 करोड़ रुपये से अधिक राशि जुटाई थी। पेटीएम के निवेशकों में Berkshire Hathaway Inc., SoftBank Group Corp. और Ant Group Co. शामिल हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *