इजारयली कंपनी ने 30 जून को दी थी रिपोर्ट- पेगासस के कितने ग्राहक कर रहे दुरुपयोग

इजारयली कंपनी ने 30 जून को दी थी रिपोर्ट- पेगासस के कितने ग्राहक कर रहे दुरुपयोग

हाइलाइट्स

  • पेगासस बनाने वाली कंपनी एनएसओ ग्रुप ने 30 जून को रिपोर्ट जारी की थी
  • उसने अपनी रिपोर्ट में ग्राहकों और स्पाइवेयर के मामलों पर बात की थी
  • कंपनी ने कहा था कि कुछ ग्राहक उसके स्पाइवेयर का दुरुपयोग करते हैं

मानवाधिकारों को खासा तवज्जो देती है कंपनी!
एनएसओ ने कहा कि अप्रैल 2020 से अप्रैल 2021 के बीच पेगासस स्पाइवेयर के करीब 15% ग्राहकों को नकार दिया गया क्योंकि मानवाधिकार उल्लंघन की चिंता थी। उसका दावा है कि वर्ष 2016 से वह करीब 30 करोड़ डॉलर (करीब 22 अरब रुपये) का सौदा ठुकरा चुका है। इनमें 10 करोड़ डॉलर (करीब 7.50 अरब रुपये) के वैसे 5 ग्राहक भी थे जिन्होंने पेगासस का दुरुपयोग किया था। कंपनी ने कहा कि उसने इन ग्राहकों को अपने सिस्टम से हटा दिया।


दुरुपयोग के मामले बहुत कम

कंपनी ने कहा कि पिछले तीन वर्षों में उसके ग्राहकों की तरफ से दुरुपयोग की सिर्फ 0.5% घटनाएं ही सामने आई हैं। एनएसओ के मुताबिक, उसने मानवाधिकार उल्लंघन, भ्रष्टाचार और अन्य कानूनी पाबंदियों के कारण 55 देशों को ब्लैक लिस्ट में डाल रखा है। रिपोर्ट कहती है कि एनएसओ ग्रुप पर इजरायली रक्षा मंत्रालय की डिफेंस एक्सपोर्ट कंट्रोल्स एजेंसी की गहरी नजर रहती है और उसकी अनुमति से ही किसी ग्राहक को लाइसेंस दी जाती है या उसका आवेदन खारिज किया जाता है। उसने बताया कि पिछले वर्ष मिली दुरुपयोग की रिपोर्टों में 10 से 12 की पड़ताल पूरी कर ली जिनमें तीन का शक सही निकला। उसने कहा कि उसने तीन में एक ग्राहक के साथ रिश्ता तोड़ लिया जबकि अन्य दो ग्राहकों पर दूसरे तरह की कार्रवाई की गई।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *