T-20 वर्ल्ड कप टीमः किसे मिल सकती है जगह, कौन-कौन है दावेदार, जानिए

T-20 वर्ल्ड कप टीमः किसे मिल सकती है जगह, कौन-कौन है दावेदार, जानिए

नई दिल्ली
आईसीसी ने आखिरी 15 खिलाड़ियों के नाम देने की आखिरी तारीख 10 अक्टूबर तय की है। यह टूर्नमेंट के शुरू होने से करीब एक सप्ताह पहले है। आईसीसी ने इस बार कोविड के चलते सात अतिरिक्त सदस्यों को रखने की इजाजत दी है। सपॉर्ट स्टाफ मिलाकर कुल 30 सदस्यों को शामिल किया जा सकता है। अतिरिक्त सदस्यों का खर्च बोर्ड को वहन करना होगा। बोर्ड 15 सदस्यों के अलावा किसी भी सदस्य, जो बायोबबल में होंगे, वह प्लेइंग इलेवन में शामिल हो सकते हैं।

विराट कोहली (कप्तान)
कप्तान विराट कोहली पर आईसीसी ट्रोफी जीतने का काफी दबाव है। और इस टूर्नमेंट में भी होगा। कोहली अपने बल्लेबाजी क्रम को लेकर भी काफी फ्लैक्सिबल हो गए हैं। वह पारी की शुरुआत करने से लेकर मिडल ऑर्डर कहीं भी बल्लेबाजी करने को तैयार हैं।

रोहित शर्मा
बीते पांच साल में रोहित शर्मा वाइट बॉल क्रिकेट में भारत के सबसे धमाकेदार खिलाड़ी हैं। वह अपनी जगह खुद ही पक्की करते हैं। कप्तानी में उनका अनुभव भी कोहली के काफी काम आता है।

केएल राहुल
टी20 क्रिकेट में राहुल एक धमाकेदार सलामी बल्लेबाज हैं। वह विकेटकीपिंग भी कर सकते हैं। और यह उनके लिए बहुत बड़ा प्लस है।

सूर्यकुमार यादव
30 साल के यह मिडल-ऑर्डर बल्लेबाज मुंबई इंडियंस के मिडल-ऑर्डर का स्तंभ रहा है। उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सीमित मौके मिले हैं लेकिन मुंबई के इस खिलाड़ी ने खुद को साबित किया है। उनके खेल में विविधता है। वह रुककर भी खेल सकते हैं और जरूरत पड़ने पर आक्रामक रवैया भी अपना सकते हैं।

ऋषभ पंत
बाएं हाथ का आक्रामक विकेटकीपर बल्लेबा। बीते करीब एक साल में वह मैच विनर के रूप में उभरे हैं। मैदान पर उनका टिका रहना ही विपक्षी खेमे में खलबली पैदा करता है।

हार्दिक पंड्या
पंड्या पिछले कुछ समय से नियमित गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं। हालांकि वह एक इम्पैक्ट खिलाड़ी हैं और लगातार अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे हैं। मुंबई इंडियंस और बीसीसीआई ने उन्हें टी20 वर्ल्ड कप में बोलिंग के लिए तैयार भी किया है। पंड्या गेंद और बल्ले दोनों से पहली ही गेंद से अपना असर छोड़ सकते हैं।

 अफगानिस्‍तान में क्रूर हत्‍यारों के हाथ में तालिबान सरकार की कमान, दुनिया के लिए चेतावनी

रविंद्र जडेजा
एक और अहम ऑलराउंडर। वह बाएं हाथ से स्पिन गेंदबाजी करते हैं और साथ ही बल्ले से भी कमाल के खिलाड़ी हैं। जडेजा की बैटिंग में एक खास बात यह है कि वह खुद को परिस्थिति के अनुसार ढालने की क्षमता रखते हैं। और इसके बाद उनकी फील्डिंग का तो कहना ही क्या...

भुवनेश्वर कुमार
वाइट बॉल में भारत के एक शानदार सीम बोलर। उनके प्रदर्शन में निरंतरता है। मार्च में चोट से उबरने के बाद से उनका प्रदर्शन अच्छा रहा है।

जसप्रीत बुमराह
बुमराह भारत के ट्रंप कार्ड हैं। बुमराह नई और पुरानी दोनों तरह की गेंद से कमाल कर सकते हैं।

शार्दुल ठाकुर
ठाकुर का हालिया खेल उन्हें सनसेशन बना चुका है। वह गेंद से तो डेथ-ओवर्स के विशेषज्ञ हैं ही साथ ही बल्ले से उनकी काबिलियत का भी जवाब नहीं।

युजवेंद्र चहल
लेग स्पिनर विराट कोहली के खास खिलाड़ी हैं। हालांकि बीते करीब एक साल से उनके लिए वक्त थोड़ा अलग है। लेकिन चहल का अनुभव काफी काम आ सकता है।

श्रेयस अय्यर
वह मिडल-ऑर्डर में सूर्यकुमार यादव के बैकअप हो सकते हैं।

शिखर धवन
टीम मैनेजमेंट हालांकि उन्हें टी20 क्रिकेट में मौका देने से बचता रहा है लेकिन उनका आईपीएल का प्रदर्शन और अनुभव यूएई के धीमे विकेटों पर मददगार हो सकता है। और यह उन्हें पृथ्वी साव पर तरजीह दिला सकता है।

दीपक चाहर
यह भुवनेश्वर कुमार के बैकअप हो सकते हैं। हालिया वक्त में उनकी बल्लेबाजी की क्षमता ने भी काफी हैरान किया है। इससे टीम को लोअर ऑर्डर में अच्छी गहराई मिलती है।

वरुण चक्रवर्ती
प्रबंधन चाहता है कि टीम में एक मिस्ट्री स्पिनर हो। हालांकि वह अकसर दाएं कंधे में चोट के चलते काफी परेशान रहते हैं।

स्टैंडबाई
राहुल चाहर
मुंबई इंडियंस के इस लेग स्पिनर और वरुण चक्रवर्ती के बीच कड़ा मुकाबला हो सकता है।

पृथ्वी साव
पृथ्वी साव और शिखर धवन के बीच मुकाबला हो सकता है। हालांकि इस युवा सलामी बल्लेबाज ने दिखाया है कि वह काफी तेजी से गियर बदल सकते हैं।

मोहम्मद सिराज/शमी
सिराज हालांकि इन दिनों अच्छी फॉर्म में हैं लेकिन सीमित ओवरों के प्रारूप में उन्हें खुद को स्थापित करने में अभी वक्त लगेगा।

अक्षर पटेल
पटेल रविंद्र जडेजा का बैकअप हो सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *