कोहली-शास्त्री से बात और फिर दुबई में मुलाकात, धोनी को ऐसे मिला बड़ा सरप्राइज

कोहली-शास्त्री से बात और फिर दुबई में मुलाकात, धोनी को ऐसे मिला बड़ा सरप्राइज

नई दिल्ली
वर्ल्ड कप और टी20 वर्ल्ड कप विजेता कप्तान महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर टीम इंडिया के साथ होंगे। इस बार मेंटॉर के रूप में। बुधवार को जब टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम की घोषणा की गई तो धोनी को टीम की 'निगहबानी' सौंपी गई। पर यह सब हुआ कैसे? कैसे पिछले साल अचानक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले धोनी एक बार फिर टीम के साथ जुड़ गए? बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने खुद इसकी कहानी बताई।

टी20 वर्ल्ड कप 17 अक्टूबर से 14 नवंबर के बीच खेला जाएगा। इसकी मेजबानी तो बीसीसीआई के पास ही है। जय शाह ने बताया कि इस टूर्नमेंट में धोनी कोच रवि शास्त्री और बाकी सपॉर्टिंग स्टाफ के साथ मिलकर काम करेंगे।

क्या है पूरा मामला
जब सिलेक्टर्स बीते कुछ वक्त से टी20 वर्ल्ड कप के लिए बड़ी टीम चुनने की प्रक्रिया में थे बीसीसीआई सचिव जय शाह ने कप्तान विराट कोहली और कोच शास्त्री से धोनी को मेंटॉर के तौर पर जोड़ने के आइडिया के बारे में बात की। यह बात धोनी को ऑफर करने से पहले की गई।

धोनी को जब यह ऑफर दिया गया तो वह इससे इनकार नहीं कर सके। चूंकि बोर्ड ने जोर देकर कहा कि धोनी का इस फॉर्मेट में बड़ा अनुभव टीम के काफी काम आएगा। धोनी असल में टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाले पहले कप्तान भी हैं। 2007 में साउथ अफ्रीका में भारत ने उन्हीं की कप्तानी में पहला टी20 वर्ल्ड कप जीता था। और बोर्ड को यकीन है कि धोनी का साथ टीम के काफी काम आएगा।

धोनी ने शाह का यह ऑफर स्वीकर कर लिया। अब वह इंडियन प्रीमियर लीग के दूसरे चरण, जो कि यूएई में खेला जाएगा, के फौरन बाद टीम के साथ जुड़ जाएंगे। वहां वह चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी करेंगे।

जय शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया, 'जब मैं दुबई में था तो मैंने धोनी से इस बारे में बात की। वह सिर्फ टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम का मेंटॉर बनने के लिए राजी हो गए। कप्तान, उपकप्तान और मुख्य कोच से इस बारे में बात की गई थी। तभी यह सब हो सका।'

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *