क्या है वो सुपरफीस जो '84 साल की लाइन' तोड़ दिला देगा अमेरिका का ग्रीन कार्ड

क्या है वो सुपरफीस जो '84 साल की लाइन' तोड़ दिला देगा अमेरिका का ग्रीन कार्ड

मुंबई
Super Fee for Green Card: अगर आप भी अमेरिका का ग्रीन कार्ड (USA Green Card) यानी परमानेंट वीजा (USA Permanent Visa) हासिल करना चाहते हैं तो वहां की सरकार ने एक बड़ा मौका देने का फैसला किया है। हालांकि, इस बड़े मौके के लिए आपको एक बड़ी कीमत भी चुकानी होगी।

दरअसल, अमेरिका जल्द ही एक सुपर फीस लेकर ग्रीन कार्ड (Green Card Super Fee 5000 Dollar) पाने का सपना देखने वाले भारतीयों को खुश कर सकता है। यूएस हाउस ज्यूडिसियरी कमेटी ने इसे लेकर एक रीकॉन्सिलिएशन बिल भी जारी किया है। हालांकि, अभी तक ये बिल फाइनल नहीं हुआ है। इस पर अभी और चर्चा होना बाकी है। चर्चा के बाद ये तय होगा कि नया प्रावधान से पैसा आएगा या नहीं। ऐसे में लोगों के मन में कई सवाल उठ रहे हैं, आइए उनके सवालों के जवाब जानते हैं।

  1. सुपर फीस के नाम पर चुकाने होंगे कितने पैसे?
    अमेरिका का ग्रीन कार्ड पाने के लिए आपको लंबी लाइन में इंतजार नहीं करना होगा, अगर आपके पास पैसा है। आपको बस 5000 डॉलर यानी लगभग 3.67 लाख रुपये की सुपर फीस देनी होगी और आप भी अमेरिका के नागरिक बन सकते हैं।
  2. हर साल कितने लोगों को ग्रीन कार्ड देता है अमेरिका?
    अमेरिका की तरफ से हर साल 1.40 लाख लोगों को रोजगार के लिए ग्रीन कार्ड जारी किया जाता है। यह संख्या पूरी दुनिया से अमेरिका आने वालों के लिए है, ना कि सिर्फ भारत के लोगों के लिए।
  3. क्या भारत के लिए निर्धारित कैप भी बढ़ेगी?
    मौजूदा समय में अमेरिका ने प्रति देश के हिसाब से 7 फीसदी की सीमा तय की हुई है। यानी किसी एक ही देश से एक साल में 7 फीसदी से अधिक लोगों को ग्रीन कार्ड नहीं दिया जाएगा। यानी एक साल में करीब 9,800 लोग ही भारत से ग्रीन कार्ड हासिल कर सकते हैं। बिल में इस कैप में कोई बदलाव करने का जिक्र नहीं है।
  4. क्या एच-1बी वीजा पर पड़ेगा कोई असर?
    बिल में एच-बी वीजा को लेकर कुछ नहीं कहा गया है। ऐसे में माना जा रहा है कि एच-बी कोटा पहले जैसे ही रहेगा, उसमें कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। मौजूदा समय में यह कोटा 65 हजार है। इसके अलावा 20 हजार एच-1बी वीजा उन लोगों को दिए जाते हैं जो अमेरिका से उच्च शिक्षा लेना चाहते हैं। यह यूएस चैम्बर ऑफ कॉमर्स की तरफ से अमेरिका वर्क्स कैंपेन का हिस्सा है। पिछले दिनों में कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का जिक्र हो रहा है कि जल्द ही एच-1बी वीजा का कोटा दोगुना हो सकता है। एच-1बी वीजा के जरिए तमाम देशों से लोग अमेरिका में अस्थाई तौर पर नौकरी कर सकते हैं।
  5. अभी कितनी लंबी है ग्रीन कार्ड का आवेदन करने वालों की लाइन?
    Cato Institute में इमिग्रेशन पॉलिसी एनालिस्ट David J Bier की एक स्टडी के अनुसार अभी रोजगार आधारित ग्रीन कार्ड (ईबी2 और ईबी3 कैटेगरी) के आवेदकों की लिस्ट बहुत लंबी है। भारत से आवेदनों की लिस्ट अप्रैल 2020 तक ही 7.41 लाख का आंकड़ा छू चुकी है, जिसका वेटिंग पीरियड लगभग 84 साल का है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *