fbpx

पहले स्पेशल टीम भेजी, अब खुद घाटी पहुंच रहे शाह... कश्मीर में टारगेट किलिंग पर ऐक्शन में सरकार

हाइलाइट्स

  • गृह मंत्री अमित शाह का तीन दिवसीय जम्मू-कश्मीर दौरा आज से
  • टारगेट किलिंग की घटनाओं के बीच अमित शाह का दौरान बेहद अहम
  • अमित शाह टारगेट किलिंग की घटनाओं के पीड़ित परिवारों से मुलाकात भी कर सकते हैं

नई दिल्ली/ श्रीनगर
कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग की घटनाओं के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन दिवसीय जम्मू-कश्मीर दौरे पर जा रहे हैं। इस बाबत केंद्र शासित प्रदेश में सुरक्षा-व्यवस्था बेहद कड़ी कर दी गई है। इस दौरान गृह मंत्री शाह सुरक्षा अधिकारियों के साथ बेहद अहम बैठक भी करेंगे। अमित शाह अपने दौरे के दौरान जहां-जहां रुकेंगे उसके कई किलोमीटर के दायरे में सुरक्षा के काफी चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं। वहीं, कश्मीर में टारगेट किलिंग की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए गृह मंत्री शाह जम्मू-कश्मीर में अपनी स्पेशल टीम को पहले ही भेज चुके हैं।

जम्मू-कश्मीर में तीन दिन रहेंगे शाह

जानकारी के मुताबिक, अमित शाह जम्मू-कश्मीर में तीन दिन रहने वाले हैं। घाटी पहुंचने के बाद शाह राजभवन जाएंगे, वहां वह सभी सुरक्षा और खुफिया चीफ की उपस्थिति में उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करेंगे। बताया जा रहा है कि अपने दौरे के बीच अमित शाह उन परिवारों से मुलाकात भी कर सकते हैं जिनको आतंकियों ने निशाना बनाया था। इसके अलावा अमित शाह जम्मू में बीजेपी नेताओं के साथ मुलाकात भी कर सकते हैं। वहीं, अपने दौरे के तीसरे दिन अमित शाह एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे।

शाह के दौरे पहले घाटी में इंटरनेट बंद, भड़की महबूबा
अमित शाह के दौरे से पहले पुलिस ने कश्‍मीर के कुछ इलाकों में इंटरनेट बंद कर दिया है। इसके अलावा पुलिस ने बड़ी संख्‍या में दो पहिया वाहन भी जब्‍त कर लिए हैं। पुलिस के इस ऐक्‍शन पर तीखी प्रतिक्रिया हुई है, खासकर पीडीपी नेता महबूता मुफ्ती ने इसे 'सामूहिक सजा' का नाम दिया है। वहीं, इस पूरे मामले में पुलिस ने कहा कि यह आतंकवाद रोधी अभियान का हिस्सा है। हालांकि बड़ी संख्या में श्रीनगर में बाइक की कथित जब्ती पर टिप्पणी नहीं की। सोशल मीडिया पर चर्चा है कि पुलिस की यह कार्रवाई सप्ताहांत में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के दौरे से जुड़ी है। लेकिन पुलिस ने इससे इनकार किया है।

घाटी में भेजी गई स्पेशल टीम
कश्मीर में हो रही इन हत्याओं को लेकर पूरे देश में गुस्सा है। वहां रहने वाले प्रवासी मजदूरों ने पलायन शुरू कर दिया है। इस देखते हुएर गृह मंत्री अमित शाह ने स्पेशल ऑपरेशन के लिए एक टीम कश्मीर भेजी है। स्पेशल टीम यहां पर आतंक फैला रहे आतंकियों का खात्मा करेगी। आपको बता दें कि यह स्पेशल टीम दिल्ली से कश्मीर शाह के दौरे से पहले ही पहुंच चुकी है।

गैर-स्थानीय मजदूरों को सुरक्षा देने के निर्देश
इधर सभी जिला पुलिस प्रमुखों को मेसेज भेजा गया है कि वह गैर-कश्मीरी लोगों को सुरक्षा दें। ऐसे गैर स्थानीय मजदूरों को तत्काल नजदीकी पुलिस थाने या केंद्रीय अर्धसैनिक बल या सेना के प्रतिष्ठानों में लाया जाए ताकि उनकी जानमाल की सुरक्षा की जा सके। गैर-स्थानीय मजदूरों की सुरक्षा के लिए दस जिलों को भेजे गए निर्देश में लिखा है कि इस मामले को अत्यंत गंभीरता से लें।