fbpx

पर्रिकर के बेटे की दो टूक, पिता की सीट से BJP का टिकट नहीं मिला तो..

हाइलाइट्स

  • उत्‍पल पर्रिकर ने चेताया है कि अगर बीजेपी ने उन्‍हें पणजी से विधानसभा टिकट नहीं दिया तो वह कड़े फैसले ले सकते हैं
  • हालांकि, उन्‍होंने यह भी जोड़ा क‍ि उन्‍हें 'पूरा भरोसा' है कि उन्‍हें ही यहां से टिकट मिलेगा
  • उनके पिता स्‍वर्गीय मनोहर पर्रिकर लगतार 25 साल पणजी का प्रतिनिधित्‍व करते रहे

पणजी
गोवा के पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्‍पल पर्रिकर ने चेताया है कि अगर बीजेपी ने उन्‍हें पणजी से विधानसभा टिकट नहीं दिया तो कड़े फैसले लेने पर मजबूर होना पड़ेगा। हालांकि, उन्‍होंने यह भी जोड़ा क‍ि उन्‍हें 'पूरा भरोसा' है कि उन्‍हें ही यहां से टिकट मिलेगा। उनके पिता स्‍वर्गीय मनोहर पर्रिकर लगतार 25 साल पणजी का प्रतिनिधित्‍व करते रहे।

गुरुवार को उत्‍पल ने कहा, 'मैं पहले ही पार्टी को बता चुका हूं कि मैं पणजी से चुनाव लड़ना चाहता हूं। मुझे पूरा भरोसा है भी पार्टी मुझे टिकट देगी।' फिलहाल एंटानासियो मोनसेरातो यहां से विधायक हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में वह यहां से जीते और बाद में बीजेपी में शामिल हो गए।

जब उत्‍पल से पूछा गया कि अगर उन्‍हें टिकट नहीं मिला तो वह क्‍या करेंगे, इस पर उन्‍होंने कहा कि वह फिलहाल इस मामले में कुछ और नहीं कहना चाहेंगे। वह बोले, 'मुझे अभी इस मुद्दे पर बोलने की जरूरत नहीं है। मनोहर पर्रिकर को जीवन में कुछ भी आसानी से नहीं मिला। उसी तरह, मुझे भी जो चाहिए उसके लिए मेहनत करनी होगी। मुझे कड़े फैसले लेने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है। मैं प्रार्थना करता हूं कि ऐसे कड़े फैसले लेने की शक्ति मुझे मिले।'

उन्‍होंने यह भी जोड़ा कि वह बीजेपी के साथ भी बने रह सकते हैं। उत्‍पल बोले, 'जब फैसला लेने का समय आएगा तो मैं जनता की सुनूंगा। मैंने पार्टी को बता दिया है और मुझे पूरा भरोसा है कि पार्टी मुझे टिकट देगी।'

जब गोव बीजेपी अध्‍यक्ष सदानंद सेठ तनवडे से इस मामले में पूछा गया तो उन्‍होंने कहा, 'पार्टी के टिकट के लिए कोई भी दावा कर सकता है। अंतिम फैसला तो पार्टी के संसदीय बोर्ड को ही लेना है, स्‍थानीय स्‍तर पर यह फैसला नहीं होगा। मैं हाल ही में उत्‍पल पर्रिकर से मिला हूं लेकिन हमारी टिकट पर कोई बातचीत नहीं हुई।'