'अंतरिक्ष के राक्षस' ने दिया सितारे को जन्म, ब्लैक होल की तस्वीर देखकर चौंके वैज्ञानिक

वॉशिंगटन : अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने खुलासा किया है कि धरती के पास एक 'बौनी आकाशगंगा' में एक ब्लैक होल को सितारों को 'जन्म देते' हुए देखा गया है। इससे पता चलता है कि ब्लैक होल उतने हिंसक नहीं होते हैं जितना पहले सोचा गया था। अभी तक ब्लैक होल को अंतरिक्ष के 'विनाशकारी राक्षस' समझा जाता था क्योंकि अपने अत्यधिक तेज गुरुत्वाकर्षण बल के कारण वे तारों समेत हर करीब आने वाली चीज को निगल लेते थे। ब्लैक होल के अंदर गुरुत्वाकर्षण बल इतना ज्यादा होता है कि इसके भीतर जाने वाली चीज महीन कणों में विभाजित हो जाती है। यहां तक कि प्रकाश भी इससे होकर नहीं गुजर सकता।

मोदी की तारीफ, अब अपर्णा को आशीर्वाद, सैफई से सिद्धार्थ नगर तक होगा तस्वीर का असर

ब्लैक होल को लेकर नया खुलासा नासा के हबल टेलिस्कोप ने किया है। हबल की खोज दिखाती है कि 'बौनी आकाशगंगा' हेनिज 2-10 के भीतर एक ब्लैक होल सितारों को निगलने के बजाय उनका निर्माण कर रहा है। ब्लैक होल हेनिज 2-10 में हो रहे नए तारों के निर्माण के 'फायरस्टॉर्म' में योगदान दे रहा है। यह पिक्सिस के दक्षिणी तारामंडल में 3 करोड़ प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है। हबल डेटा का अध्ययन मोंटाना स्टेट यूनिवर्सिटी के भौतिकी विभाग के दो शोधकर्ताओं जाचरी शुट्टे और एमी ई. रेइन्स ने किया है और इसकी घोषणा नासा ने की है।

 


छोटी आकाशगंगा का आकार मिल्की-वे के 10 प्रतिशत के बराबर
शुट्टे ने कहा कि 3 करोड़ प्रकाश-वर्ष दूर, हेनिज 2-10 आकाशगंगा इतनी करीब है कि हबल टेलिस्कोप ने ब्लैक होल के बाहर की तस्वीरें आसानी से खींच लीं। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ा आश्चर्य यह था कि सितारों को नष्ट करने के बजाय यह नए सितारों को जन्म दे रहा था। हेनिज 2-10 का आकार मिल्की-वे का 10 प्रतिशत है। इसमें पाए जाने वाले सितारों की संख्या हमारी आकाशगंगा में पाए जाने वाले सितारों की संख्या का सिर्फ 10वां हिस्सा है।

हेनिज 2-10 में 10 लाख सौर द्रव्यमान का ब्लैक होल
विशेषज्ञों का कहना है कि इसमें एक सेंट्रल ब्लैक होल मौजूद है। हेनिज 2-10 में ब्लैक होल लगभग 10 लाख सौर द्रव्यमान का है। बड़ी आकाशगंगाओं में, ब्लैक होल हमारे सूर्य के द्रव्यमान के 1 अरब गुना से भी अधिक हो सकते हैं। एक रिसर्च का अनुमान है कि ब्रह्मांड का विस्तार ब्लैक होल के बड़े होने का कारण बन रहा है, जो आने वाले समय में असामान्य घटनाओं को जन्म दे सकता है। यह चिंताजनक इसलिए है क्योंकि ब्रह्मांड का विस्तार आकाशगंगाओं और सितारों को बड़ा नहीं बनाता बल्कि यह अंतरिक्ष के क्षेत्र का विस्तार करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: