मोबाइल, फोन चार्जर सस्ते, जानिए इस बार बजट में क्या हुआ सस्ता, किसके घट गए दाम

हाइलाइट्स

  • 5 राज्यों में चुनाव को ध्यान में रखते हुए इस बार मोदी सरकार लोगों को अधिक से अधिक राहत देने की कोशिश करेगी
  • हर बार की तरह इस बार भी बजट में डीजल-पेट्रोल से जुड़ी कोई न कोई घोषणा तो जरूर होगी
  • काफी समय से इंश्योरेंस कंपनियां मांग कर रही हैं कि हेल्थ इंश्योरेंस पर लगने वाली जीएसटी घटाई जाए

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बजट में घोषणाओं के जरिए बताया कि कौन सी चीजें सस्ती होंगी और क्या महंगा होगा। दरअसल, उन्होंने तमाम चीजों पर कस्टम ड्यूटी, आयात शुल्क समेत तमाम शुल्क बढ़ाए और घटाए जाने की बात कही। आइए जानते हैं इन घोषणाओं के चलते क्या-क्या होगा सस्ता और महंगा।

क्या-क्या होगा सस्ता?
चमड़ा, कपड़ा, खेती का सामान, पैकेजिंग के डिब्बे, मोबाइल फोन चार्जर और जेम्स एंड ज्वैलरी सस्ते होंगे। जेम्स एंड ज्वैलरी पर कस्टम ड्यूटी को घटाकर 5 फीसदी कर दिया गया है। कट और पॉलिश्ड डायमंड पर भी कस्टम ड्यूटी घटाकर 5 फीसदी कर दी गई है। एमएसएमई को मदद मुहैया कराने के लिए स्टील स्क्रैप पर कस्टम ड्यूटी छूट को 1 साल के लिए बढ़ा दिया गया है। मेंथा ऑयल पर कस्टम ड्यूटी को घटाया गया। मोबाइल फोन के चार्जर, ट्रांसफॉर्मर आदि पर कस्टम ड्यूटी में छूट दी गई है, ताकि घरेलू मैन्युफैक्टरिंग को बढ़ावा दिया जा सके।

budget

क्या-क्या हुआ महंगा?
कैपिटल गुड्स पर आयात शुल्क में छूट को खत्म करते हुए 7.5 फीसदी आयात शुल्क लगा दिया गया है। इमिटेशन ज्वैलरी पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई, ताकि इसके आयात को कम किया जा सके। विदेशी छाता भी महंगा होगा। इसके अलावा इस साल अक्टूबर से बिना ब्लेंडिंग वाले फ्यूल पर 2 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से एक्साइज ड्यूटी लगेगी।

'हिन्दुस्तानी भाऊ' अरेस्ट, छात्रों को प्रदर्शन के लिए उकसाने का आरोप

पिछले बजट में क्या हुआ था सस्ता-महंगा?
वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने डायरेक्‍ट टैक्‍स देने वालों को आम बजट 2021 में कोई राहत नहीं दी थी। हालांकि, सरकार ने शराब, काबुली चना, मटर, मसूर की दाल समेत कई उत्‍पादों पर कृषि इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर सेस लगाने की भी घोषणा की थी। निर्मला सीतारमण ने कस्‍टम्‍स में 400 से ज्‍यादा छूटों की समीक्षा करने का प्रस्‍ताव दिया। कई तरह के कच्‍चे माल पर कस्‍टम ड्यूटी बढ़ाई और कुछ स्‍टील उत्‍पादों पर ड्यूटी हटाई गई है। इसके अलावा कॉपर स्‍क्रैप पर ड्यूटी को 5% से घटाकर 2.5% कर दिया गया। मोबाइल्‍स के कुछ पार्ट्स पर 2.5% ड्यूटी लगाई गई।

पिछले बजट में कॉटन, सिल्‍क, प्‍लास्टिक, लेदर, इलेक्ट्रॉनिक्‍स आइटम्‍स, ऑटो पार्ट्स, सोलर प्रॉडक्‍ट्स, मोबाइल, चार्जर, इम्‍पोर्टेड कपड़े, रत्‍न, LED बल्‍ब, फ्रिज/एसी और शराब बजट में महंगे हुए हैं। वहीं दूसरी ओर नायलॉन के कपड़े, लोहा, स्‍टील, कॉपर आइटम्‍स, सोना, चांदी और प्‍लेटिनम जैसी चीजें सस्ती हुई थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: