कश्मीर फाइल्स के बाद चर्चा में यासीन मलिक की पाक बीवी, जानिए कौन हैं मुशाल मलिक

हाइलाइट्स

  • कश्मीर के अलगाववादी नेता यासीन मलिक जेल में हैं
  • यासीन मलिक की पत्नी मुशाल भारत के खिलाफ रच रहीं साजिश
  • ट्विटर पर भारत के खिलाफ पोस्ट करके UN को टैग करती हैं मुशाल
  • सोशल मीडिया पर भारत की छवि कर रहीं खराब
श्रीनगर : कश्मीर फाइल्स के बाद अलगाववादी नेता यासीन मलिक चर्चा में आ गए हैं। इसी दौरान यासीन मलिक की पत्नी मुशाल हुसैन मलिक भी ट्रेंड करने लगी हैं। वह अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स में जहर उगलने को लेकर चर्चा में हैं। उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट में भारत और भारतीय सेना पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें वह कह रही हैं पाकिस्तानी कश्मीर को कभी नहीं छोड़ेंगे। अगर कश्मीर लेने का प्रयास किया गया तो खून की नदियां बहेंगी।भारत के खिलाफ पाकिस्तानी अजेंडे को बढ़ावा देने वाले अलगाववादी नेता यासीन मलिक फिलहाल जेल में हैं। इधर उनकी पाकिस्तानी पत्नी मुशाल हुसैन मलिक लगातार भारत, भारत सरकार और भारतीय सेना पर हमला कर रही हैं। वह भारत को लगातार बदनाम कर रही हैं। यासीन मलिक की पत्नी की ओर से किए गए दावों का फैक्ट चेक किया गया तो उनके आरोप झूठे निकले। उन्होंने भारतीय सेना पर कई गंभीर और घिनौने आरोप लगाए हैं वह भी सारे झूठे हैं।

कश्मीरी लड़कियों की फोटो करती हैं पोस्ट
यासीन मलिक की पत्नी मुशारा अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए लगातार कश्मीर लड़कियों के फोटो पोस्ट करती हैं। वह इस तरह की पोस्ट करती हैं जिससे यह लगता है कि भारत में मुसलमानों के ऊपर अत्याचार हो रहे हैं। मुस्लिम महिलाओं पर अत्याचार किए जा रहे हैं।

Yasin Malik Wife
Yasin Malik Wife

पाकिस्तानी करते हैं फॉलो
मुशाल के ट्विटर अकाउंट पर 80000 से ज्यादा फॉलोवर्स हैं। उनका अकाउंट वैरीफाइड भी है। उनके फॉलोवर्स में अधिकांश पाकिस्तानी लोग हैं। मुशाल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि उन्हें यासीन मलिक की पत्नी होने पर गर्व है। वह खुद को कश्मीरी अलगाववादियों का नेता बताती हैं। उनके पोस्ट देखें तो लगता है कि भारत में मुसलमानों को प्रताड़ित किया जा रहा है, उनका नरसंहार हो रहा है। मुस्लिम महिलाओं के साथ रेप हो रहे हैं।

मुसलमानों पर अत्याचार का करती हैं झूठा दावा
अलगाववादी नेता और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट का अध्यक्ष यासीन मलिक जेल में है। उसे 2017 में टेरर फंडिंग के आरोप में जेल भेजा गया था। मुशाला अपने पति को निर्दोष बताते हुए रिहाई की मांग कर रही हैं। साल 2019 में मुशाला मलिक ने पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित एक प्रोग्राम में हिस्सा लिया था। उन्होंने एक कविता पढ़ी थी, उसमें भी यह बताया था कि कश्मीर के मुसलमानों पर भारत अत्याचार कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: