जीत के बाद पहली बार जनता के बीच पहुंचे फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, वोटरों ने टमाटरों से किया स्वागत!

हाइलाइट्स

  • चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद पहली बार जनता के बीच पहुंचे मैक्रों
  • प्रदर्शनकारी ने फेंके फ्रांसीसी राष्ट्रपति पर टमाटर, मची अफरा-तफरी
  • मैक्रों ने पहले दौरे के लिए चुना ऐसा इलाका जहां से मिले सबसे कम वोट

पेरिस : फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने एक बार फिर देश के राष्ट्रपति चुनावों में जीत दर्ज की है। उन्होंने धुर दक्षिणपंथी उम्मीदवार मरीन ले पेन को हरा दिया। चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद पेरिस से बवाल की खबरें आई थीं। रविवार को चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद मैक्रों पहली बार जनता के बीच पहुंचे। वह पेरिस के उत्तर पश्चिम में सेर्गी में वोटरों से मिल रहे थे कि तभी एक प्रदर्शनकारी ने उन पर टमाटर फेंके। टमाटर उन्हें लगा तो नहीं लेकिन इससे उनके सुरक्षा टीम चौकन्नी हो गई।

डेलीमेल की खबर के अनुसार सुरक्षाकर्मियों ने अपने राष्ट्रपति को टमाटरों से बचाने के लिए तत्काल छाता खोला और मैक्रों के सिर को हाथों से कवर कर लिया। घटना के वीडियो में मैक्रों को कहते सुना जा सकता है, 'यह गंभीर नहीं है'। इसके बाद उनके बॉडीगार्ड्स उन्हें वहां से लेकर निकल गए। एक दूसरे वीडियो में प्रदर्शनकारी को टेबल से भीड़ के ऊपर कूदते देखा जा सकता है जिसके बाद उसे हिरासत में ले लिया गया।

 

ऐसे इलाके में पहुंचे मैक्रों जहां मिले कम वोट
मैक्रों रविवार को चुनावों में जीत दर्ज कर एक बार फिर फ्रांस के राष्ट्रपति बने हैं। बुधवार को भीड़ के बीच जाने के लिए मैक्रों ने ऐसे इलाके का चयन किया जहां उन्हें पहले दौर में वामपंथी उम्मीदवार जीन-ल्यूक मेलेनचॉन की तुलना में कम वोट मिले हैं। उन्होंने मतदाताओं से कहा, 'मैं यह कहने आया हूं कि मैंने हर किसी की आवाज सुनी है। मैं उन इलाकों के लिए प्रतिबद्ध रहूंगा जो सबसे अधिक कठिनाइयों में हैं।'

 


जीतने के बाद बोला शख्स- 'हमें मैक्रों को मारना है'
फ्रांस की चुनावी लड़ाई के बाद भी तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। मरीन ले पेन को सेंट्रिस्ट यूरोपीय नेता पर बढ़त तो मिली लेकिन वह सत्ता हासिल करने में विफल रहीं। सोमवार की सुबह नतीजे घोषित होने के बाद एक चाकूधारी ने कहा, 'हमें मैक्रों को मारना है'। उसने एक पादरी और नन पर चाकू से हमला कर दिया। चुनाव में मैक्रों को 58.5 प्रतिशत और मरीन ले पेन को 41.5 प्रतिशत वोट मिले। ले पेन को जीत भले न मिली हो लेकिन तीन बार के प्रयासों में उन्हें इस बार सबसे अधिक बढ़त हासिल हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: