जानदार टीम की शानदार कहानी... फाइनल में पहुंचने के बाद पंड्या ने किसके सिर बांधा जीत का सेहरा

कोलकाता: गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक पंड्या ने इंडियन प्रीमियर लीग के क्वालीफायर एक में मंगलवार को यहां राजस्थान रॉयल्स को सात विकेट से हराकर फाइनल में जगह बनाने के बाद अपने खिलाड़ियों की जमकर तारीफ की। रॉयल्स के 189 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए टाइटंस ने डेविड मिलर (नाबाद 68) और पंड्या (नाबाद 40) के बीच चौथे विकेट की 106 रन की अटूट साझेदारी की बदौलत तीन गेंद शेष रहते तीन विकेट पर 191 रन बनाकर जीत दर्ज की।

मिलर ने 38 गेंद की अपनी तेजतर्रार पारी में पांच छक्के और तीन चौके मारे। उन्होंने लगातार तीन छक्के जड़कर अपनी टीम को जीत दिलाई। पंड्या ने 27 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके जड़े। टाइटंस की ओर से शुभमन मिल (35) और मैथ्यू वेड (35) ने भी उपयोगी पारियां खेली। रॉयल्स ने जोस बटलर (89) और कप्तान संजू सैमसन (47) की उम्दा पारियों से छह विकेट पर 188 रन बनाए थे।

पंड्या ने मैच के बाद कहा, ‘मुझे गर्व है कि टीम में शामिल सभी 23 खिलाड़ी अलग हैं। वे सभी अलग तरह की चीजें मुकाबले में लेकर आते हैं। मैंने मिलर से सिर्फ इतना कहा कि अगर आपके आसपास अच्छे लोग हैं तो आपको अच्छी चीजें मिलती हैं।’

उन्होंने कहा, ‘मैं देख सकता हूं कि जो खिलाड़ी अंतिम एकादश में शामिल नहीं हैं वे भी चाहते हैं कि टीम अच्छा प्रदर्शन करे। राशिद ने पूरे टूर्नामेंट के दौरान शानदार प्रदर्शन किया लेकिन मुझे मिलर पर अधिक गर्व है। मैंने उसे कहा कि खेल का सम्मान करना चाहिए। मुंबई इंडियन्स के खिलाफ हमने गलती कर दी थी और यहां चाहते थे कि खेल का सम्मान करें। हम दोनों ही मैच को खत्म करना चाहते थे।’

Dr Vijay Singla: कमीशनखोरी के आरोप में भगवंत मान कैबिनेट से बर्खास्त, जानिए कौन हैं डॉ. विजय सिंगला?

रॉयल्स के कप्तान सैमसन ने कहा कि वह स्कोर से खुश थे लेकिन मैच में टॉस की भूमिका अहम रही। उन्होंने कहा, ‘स्कोर से खुश था। विकेट पर बल्लेबाजी उतनी आसान नहीं थी। गेंदबाजों को मदद मिल रही थी, पावरप्ले में स्विंग मिल रही थी। कुछ गेंद रुककर आ रही थी और उछाल भी समान नहीं था। भाग्यशाली था कि पावरप्ले में कुछ रन बना पाया। इस तरह के हालात में यह स्कोर शानदार था।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: