हार्दिक पंड्या ने सिर्फ 4 ओवर में कर दिया था खेल, राजस्थान रॉयल्स के सूरमा ही बने हार के कारण

हाइलाइट्स

  • हार्दिक पंड्या ने आईपीएल 2022 में दिखाया लीडरशिप का दम
  • जिम्‍मेदार बल्‍लेबाज की पहचान बनी, गेंदबाजी भी रही सटीक
  • पहली बार खेल रही गुजरात टाइटंस ने जीती आईपीएल ट्रॉफी

GT vs RR Match Turning Point: आईपीएल का 15वां सीजन शुरू होने के पहले तक सिर्फ एक हार्ड हिटर ऑलराउंडर की पहचान रखने वाले हार्दिक पंड्या ने सीजन खत्म होते-होते एक कुशल कप्तान और जिम्मेदारी उठाने वाले बल्लेबाज के रूप में अपनी नई पहचान बना ली। हार्दिक ने अपनी कप्तानी कौशल और ऑलराउंड खेल के बूते आईपीएल की नई टीम गुजरात को लीग का चैंपियन बना डाला। डेब्यू कर रही टीम गुजरात और इस लीग की पहली चैंपियन राजस्थान रॉयल्स के बीच अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले गए दबाव भरे खिताबी मुकाबले में गुजरात ने सात विकेट से बाजी मारी। टाइटंस लीग के इतिहास में खिताब जीतने वाली कुल सातवीं टीम बनी।

पंड्या ने कर दिया खेल
गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक ने फाइनल मुकाबले में राजस्थान के खिलाफ अपनी कप्तानी और अपनी बोलिंग का बेस्ट दिया। इससे राजस्थान की बैटिंग का जायका बिगड़ गया। जोस बटलर और संजू सैमसन की धाकड़ बल्लेबाजी के बूते बड़े-बड़े टोटल टांगने वाली राजस्थान की टीम सबसे अहम मुकाबले में 130/9 का स्कोर ही बना सकी। सामान्य टोटल के पीछे बटलर (39), संजू (14) और शिमरन हेटमायर (11) का फेल होना अहम रहा। इन तीनों ही खतरनाक बल्लेबाजों को हार्दिक ने आउट किया।

IPL 2022: राजस्थान को 7 विकेट से हराकर गुजरात टाइटंस बनी चैंपियन
4 ओवर 17 रन और 3 बड़े विकेट
हार्दिक ने अपने चार ओवर में 17 रन देकर तीन विकेट निकाले जो कि आईपीएल में उनका बेस्ट बोलिंग प्रदर्शन रहा। हार्दिक ने न सिर्फ आईपीएल फाइनल का पांचवां बेस्ट बोलिंग प्रदर्शन किया बल्कि पूरी रणनीति के साथ अपने गेंदबाजों का इस्तेमाल कर बल्लेबाजों को खुलने भी नहीं दिया। हार्दिक ने सबसे खास तरीके से अफगानी स्पिनर राशिद खान का इस्तेमाल किया, जिनका जोस बटलर के खिलाफ रेकॉर्ड शानदार रहा था।

रॉयल्स ने लगा दी जान, फिर भी नहीं बनी बात
टारगेट छोटा था लेकिन राजस्थान की मजबूत बोलिंग यूनिट के खिलाफ इसे हासिल करना आसान काम नहीं था। ऐसा ही हुआ। गुजरात ने 23 रन पर दो अहम विकेट गंवा दिए। गेंदबाजी में हर ओवर के साथ धार बढ़ती हुई जा रही थी। लेकिन ऐसी मुश्किल परिस्थिति में एक बार फिर हार्दिक ने चौथे क्रम पर उतरकर ओपनर शुभमान गिल के साथ 53 गेंद पर 63 रन की साझेदारी कर टीम को संकट से बाहर निकाला। हार्दिक 30 बॉल पर 34 रन बनाकर आउट हो गए लेकिन शुभमान ने एक छोर थामे रखा और 43 गेंद पर नाबाद 45 रन की संयमित पारी खेलकर टीम की जीत पक्की की। आखिरी के ओवर्स में उन्हें डेविड मिलर का अच्छा साथ मिला। मिलर ने 19 गेंद पर नाबाद 32 रन बनाए। दोनों ने 29 गेंद पर 47 रन की अटूट साझेदारी कर 11 गेंद शेष रहते टीम का स्कोर 133/3 कर दिया।

जारी रहा सिलसिला
पिछले पांच आईपीएल फाइनल से एक दिलचस्प सिलसिला चला आ रहा था। साल 2017 में इस लीग में पहले बैटिंग करने वाली टीम ने खिताब जीता। इसके अगले साल बाद में बैटिंग करने वाली टीम चैंपियन बनी। 2019 में एक बार फिर पहले बैटिंग करने वाली टीम ने बाजी मारी और इसके अगले साल यानी 2020 में बाद में बैटिंग करने वाली टीम जीती। सीजन 2021 में एक बार फिर टारगेट सेट करने वाली टीम चैंपियन बनी। इस बार सिलसिले का कायम रखते हुए गुजरात ने लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत दर्ज की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: