Vande Bharat Train :रफ्तार के मामले में वंदे भारत ने बुलेट ट्रेन का तोड़ा रिकॉर्ड, टॉप स्पीड देख चौंक जाएंगे आप

नई दिल्ली: नई वंदे भारत ट्रेन ने स्पीड के मामले में बुलेट ट्रेनों को भी पीछे छोड़ दिया है। नई वंदे भारत ने टेस्ट रन के दौरान नया रिकॉर्ड बनाया है। इसकी रफ्तार देख कर सभी चौंक गए। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ( Ashwini Vaishnaw) ने शुक्रवार को कहा कि तीसरी और नई वंदे भारत ट्रेन (Vande Bharat) ने टेस्ट रन के दौरान केवल 52 सेकंड में शून्य से 100 किमी प्रति घंटे की स्पीड हासिल की है। इसने बुलेट ट्रेनों का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। परीक्षण के परिणामों की घोषणा करते हुए वैष्णव ( Ashwini Vaishnaw) ने कहा कि वंदे भारत ट्रेन का तीसरा परीक्षण पूरा हो गया है। उन्होंने कहा कि बुलेट ट्रेन (Bullet Train) इस रफ्तार को हासिल करने में 54. 6 सेकेंड का समय लेती है।

इस हाईटेक तकनीक से लैस है नई वंदे भारत

नई वंदे भारत ट्रेन (Vande Bharat) में एक वायु शोधन प्रणाली भी है जो 99% प्रभावशीलता के साथ कीटाणुओं और वायरस को मार सकती है। परीक्षण के परिणामों की घोषणा करते हुए वैष्णव ने कहा कि नई ट्रेन की अधिकतम स्पीड 180 किमी प्रति घंटा है जबकि पुरानी वंदे भारत की अधिकतम 160 किमी प्रति घंटे की ही है। आरामदायक यात्रा के लिए इस ट्रेन में कई विशेषताएं हैं। गुणवत्ता और सवारी सूचकांक में सुधार हुआ है। इन मापदंडों पर ट्रेन का स्कोर 3. 2 है जबकि विश्व स्तर पर सबसे अच्छा स्कोर 2. 9 है।

विपक्ष अभी टीम जोड़ ही रहा और बीजेपी ने 2024 के लिए फील्डिंग सजा दी

260 किमी की स्पीड से चलाने की तैयारी
रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, नई वंदे भारत काफी अपग्रेड है। यही कारण है कि इसकी रफ्तार अच्छी है। यह ट्रेन इंजन नहीं बल्कि स्वचालित मोटरों की सहायता से चलती है। 16 कोच वाली इस ट्रेन के पांच कोच में मोटर लगी होती है। स्वचलित मोटरों की मदद से इसकी स्पीड काफी ज्यादा है। बुलेट ट्रेन के आगे लगे एक इंजन पर वंदे भारत के पूरे ट्रेन में लगी 20 मोटर ज्यादा कारगर होती है। अभी वंदे भारत ट्रेन की गति 160 किलोमीटर प्रतिघंटा है। हालांकि इसका नया वर्जन 180 किलोमीटर प्रतिघंटा का है। वहीं अब साल 2025 तक इस ट्रेन के अपग्रेड वर्जन को 260 किमी प्रतिघंटा से दौड़ाने की तैयारी है।

देश में हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन चलाने की तैयारी
रेलवे बोर्ड देशभर में 400 सेमी हाई स्पीड वंदे भारत ट्रेन को चलाने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए जापान, फ्रांस, चीन, जर्मनी आदि देशों की तर्ज पर उच्च क्षमता की विद्युत लाइनें बिछाई जा रही हैं। इससे लोगों को हाई स्पीड ट्रेनों में सफर करने का मौका मिलेगा।रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, सेमी-हाई स्पीड ट्रेन अगले कुछ हफ्तों में अहमदाबाद-मुंबई रूट पर चलने के लिए तैयार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: