अमानतुल्लाह खान की गिरफ्तारी के बाद हंगामा, घर के बाहर रिश्तेदारों ने ACP पर किया हमला, FIR

एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) ने दिल्ली से आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार कर लिया है. एसीबी ने अमानतुल्लाह से पूछताछ के बाद शुक्रवार को उनके घर और चार ठिकानों पर छापामारी की थी. दो ठिकानों से अवैध पिस्टल बरामद हुई हैं. इसके साथ ही 24 लाख कैश बरामद हुआ है. इस दौरान एसीबी की टीम के साथ मौजूद पुलिसबल पर हमला करने की खबर भी आई है. पुलिस ने इस मामले में तीन एफआईआर दर्ज की हैं. अमानतुल्लाह के खिलाफ वक्फ बोर्ड में गड़बड़ी किए जाने के मामले में जांच चल रही है.

जानकारी के मुताबिक, ACB ऑफिस में लॉकअप ना होने की वजह से अमानतुल्लाह खान को शुक्रवार रात नजदीक के सिविल लाइन थाने के लॉकअप में रखा गया है. शनिवार दोपहर 12 बजे के बाद संबंधित कोर्ट में पेशी होगी. ACB अमानतुल्लाह खान को कोर्ट में पेश करने के बाद कस्टडी की अपील करेगी.

शुक्रवार को अमानतुल्लाह के दो करीबियों के ठिकानों से 24 लाख रुपए कैश और दो पिस्टल बरामद की गई हैं. इनमें एक पिस्टल विदेशी है, जिसका लाइसेंस नहीं है. ACB का कहना है कि अमानतुल्लाह के घर शुक्रवार को रेड मारी थी. उनके खिलाफ सुबूतों और आपत्तिजनक सामग्री के आधार पर गिरफ्तारी की गई है.

अमान

AAP के वार्ड प्रेसिडेंट के घर 12 लाख बरामद

ACB की रेड के दौरान आम आदमी पार्टी के वार्ड प्रेसिडेंट और अमानतुल्लाह के करीबी कौशर इमाम सिद्दकी के यहां से भी कैश, पिस्टल और कारतूस बरामद हुए हैं. कौशर इमाम के घर से 12 लाख बरामद किए गए हैं. अब तक की रेड में कुल 24 लाख कैश और 2 हथियार और कारतूस बरामद हुए हैं.

दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई के बारे में ये जानकारी दी...

प्राथमिकी में लगाए गए आरोपों के मुताबिक, ये मामला दिल्ली वक्फ बोर्ड के कामकाज में वित्तीय हेराफेरी और अन्य अनियमितताओं से जुड़ा है. अमानतुल्ला खान ने दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में काम करते हुए 32 लोगों को अवैध रूप से नियमों का उल्लंघन करते हुए भर्ती किया. दिल्ली वक्फ बोर्ड के तत्कालीन सीईओ ने इस तरह की अवैध भर्ती के खिलाफ बयान जारी किया था. आरोप है कि दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में अमानतुल्ला खान ने भ्रष्टाचार और पक्षपात किया है. इसके साथ ही अवैध रूप से दिल्ली वक्फ बोर्ड की कई संपत्तियों को किराए पर दिया है. ये भी आरोप लगाया गया है कि उन्होंने दिल्ली वक्फ बोर्ड के धन का दुरुपयोग किया है, जिसमें दिल्ली सरकार से सहायता अनुदान शामिल है.

अमान

अमानतुल्लाह के करीबियों के ठिकानों पर ये मिला...

इस संबंध में अमानतुल्लाह से एसीबी की टीम ने पूछताछ की. उसके बाद सूचना के आधार पर शुक्रवार को 4 जगहों पर छापा मारा गया. यहां से करीब 24 लाख रुपये कैश बरामद किया गया है. 2 अवैध और बिना लाइसेंस की पिस्टल मिली हैं. कारतूस और गोला-बारूद भी बरामद किया है.

अमानतुल्लाह के घर के बाहर हमला

पुलिस ने ये भी बताया है कि अमानतुल्लाह खान के घर के बाहर एसीपी की टीम पर हमला किया गया. खान के रिश्तेदारों और अन्य लोगों ने पुलिसबल को घेर लिया था. उसके बाद सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाई है.

दक्षिण-पूर्व जिले में भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने तीन एफआईआर दर्ज करवाईं हैं. इसमें अवैध हथियारों की बरामदगी के संबंध में 2 प्राथमिकी दर्ज की हैं. तीसरी एफआईआर अमानतुल्ला खान के रिश्तेदारों द्वारा पुलिस टीम के साथ मारपीट के संबंध में दर्ज करवाई गई है.

अमान

अमानतुल्लाह की पत्नी ने पुलिस के आरोपों को नकारा

वहीं, अमानतुल्लाह खान की पत्नी शाफिया खान ने पुलिस पर हमले की बात को गलत बताया है. उन्होंने कहा- अमानत साहब के ACB दफ्तर जाने के बाद पुलिस अधिकारी घर पहुंचे और तलाशी ली. इस वीडियो में साफ सुना जा सकता है कि पुलिस के अधिकारी कह रहे हैं कि तलाशी में कुछ नहीं मिला. लेकिन लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहलाने वाली मीडिया गलत खबर चला कर गुमराह कर रही है.

जो रिकॉर्ड मांगे गए, वो मैंने दिए हैं: अमानतुल्लाह

वहीं, अमानतुल्लाह ने कहा- ये लोग कहते हैं ऊपर से प्रेशर है. कोई भी शिकायत डालता है. CEO वक्फ बोर्ड की शिकायत पर ऐसा हो रहा है. कॉन्ट्रैक्ट के लिए नहीं, पर्मानेंट स्टाफ के लिए नियुक्ति हुई थी. दंगों के समय मेरा पर्सनल अकाउंट, रिलीज अकाउंट नहीं बन सकता था. उन्होंने कहा कि मुझसे पहले 24 लोगों को भर्ती किया गया. सबको मेरिट बेस पर लिया गया. उसी CEO ने इन लोगों भी रखा, जिसने शिकायत की है. ये 2022 के रिकॉर्ड मांग रहे हैं जो हमने दिया. रिलीफ कमिटी 2020 में बनी, FIR उससे पहले हो गई. ना मैंने किसी केस को प्रभावित किया ना कुछ गलत किया. मैंने सभी मानदंडों का पालन किया है. मेरे खिलाफ 23-24 FIR हैं.

मुश्किलों में AAP नेता

आम आदमी पार्टी के विधायक और मंत्री इस समय जांच एजेंसियों के रडार पर हैं. पिछले महीने डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई ने छापा मारा था और जांच की थी. सिसोदिया पर बीजेपी शराब घोटाले का आरोप लगा रही है. इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को ईडी ने 30 मई को मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार किया था. जैन अभी जेल में बंद हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: