राष्ट्रपति चुनाव: आखिरी वक्त में बदले समीकरण, राधाकृष्णन को करना पड़ा 5 साल इंतजार

डॉ. राधाकृष्णन साधारण जीवनशैली के लिए जाने जाते थे। बतौर राष्ट्रपति उन्हें जो भी वेतन मिलता था उसका करीब 75 फीसदी हिस्सा वो राहत कोष में दे देते थे। जब वह देश के उपराष्ट्रपति थे उस वक्त भी उन्होंने अपनी सादगी से सभी का दिल जीता।

Read more