UP Politics: केशव मौर्य और विजय बहुगुणा के बयानों से गर्म हुई यूपी की सियासत

केशव प्रसाद मौर्य बचपन में अपने पिता की दुकान पर चाय बेचते थे। घर का खर्च चाय की दुकान से पूरा नहीं हो पाता था। सो, उन्होंने अखबार बांटने और सब्जी बेचने तक का काम किया। कौशांबी जिले के सिराथू गांव के गरीब परिवार में जनमे केशव के जीवन में बदलाव राम मंदिर आंदोलन से आया।

Read more