Guru Purnima 2022: सीएम योगी निभाएंगे गुरु की भूमिका, गुरु पूर्णिमा पर शिष्यों को देंगे आशीर्वाद

Spread the love

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima 2022) के दिन पुरानी परंपरा का निर्वहन करेंगे। आज एक बार फिर योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) गुरु की भूमिका में नजर आएंगे। कोरोना (Corona) काल के दो साल बाद इस बार गोरखनाथ मंदिर (Gorakhnath Temple) में गुरु पूर्णिमा श्रद्धा और उल्लास के साथ मनेगी। गोरक्षपीठाधीश्वर सीएम योगी आदित्यनाथ, शिवावतारी गुरु गोरक्षनाथ के विशेष पूजन के साथ अपने सभी गुरुओं का पूजन कर शिष्यों को आशीर्वाद देंगे।

गुरु पूर्णिमा 2022 - जानिए महत्व और किसे कहा जाता है ब्रह्मांड का पहला बृहस्पति

 

मंदिर में गुरु पर्व की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। इसके लिए करीब 5 हजार लोगों को निमंत्रण भेजा जा रहा है। हालांकि पिछले दो साल कोरोना संक्रमण के दौरान सीमित संख्या में ही आमंत्रण भेजे गए थे। गोरक्षपीठ में गुरु पूर्णिमा पर अनुष्ठान बुधवार को सुबह 5 बजे से शुरू हो चुका है। पीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने सबसे पहले महायोगी गुरु गोरखनाथ की पूजा-अर्चना कर उन्हें ‘रोट’ का महाप्रसाद चढ़ाया। इसके बाद अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की पूजा-अर्चना कर आशीर्वाद लिए। मंदिर में प्रतिष्ठित सभी देव विग्रह और समाधियों पर भी गोरक्षपीठाधीश्वर विशेष पूजन किया। गोरखनाथ मंदिर में सुबह 6.30 बजे से विशेष आरती हुई, जिसमें विभिन्न राज्यों से आए नाथ योगी, संत, महात्मा और गृहस्थ शिष्य भी शामिल हुए। यहां उन्हें गोरक्षपीठाधीश्वर का आशीर्वाद भी मिला।

योगी आदित्यनाथ शिष्यों और श्रद्धालुओं को देंगे आशीर्वाद
बुधवार सुबह 10.30 से 11.30 बजे तक गोरक्षपीठाधीश्वर स्मृति भवन सभागार के मंच पर आएंगे। इस भवन में करीब 1500 लोगों के बैठने का इंतजाम हैं। भजन कीर्तन के बीच गोरक्षपीठाधीश्वर गुरु पूर्णिमा पर शिष्यों और श्रद्धालुओं को आशीर्वाद देंगे। मंदिर के सचिव द्वारिका तिवारी के मुताबिक दोपहर 12 बजे से गोरखनाथ मंदिर में सहभोज शुरू हो जाएगा। गोरक्षपीठाधीश्वर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद इसकी निगरानी करेंगे। द्वारिका तिवारी ने बताया कि गुरु पूर्णिमा पर 5 हजार से अधिक श्रद्धालु निमंत्रित हैं। पिछले दो साल कोरोना में निमंत्रण काफी समिति हो गया था, लेकिन इस बार विस्तार दिया गया है।


सुरक्षा जांच से श्रद्धालुओं को न हो असुविधा
गुरु पूर्णिमा पर मंदिर परिसर में सुरक्षा के काफी सख्त इंतजाम किए गए हैं। लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुरक्षा कर्मियों और अधिकारियों को निर्देशित किया है कि श्रद्धालुओं को कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की गाड़ियों के पार्किंग का भी इंतजाम किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *